April 20, 2024

Today24Live

Voice Of All

किसान सत्याग्रह यात्रा से बिहार कांग्रेस में आएगी नई जान, भक्त चरण दास ने किसानों की उठाई समस्या

PATNA: बिहार कांग्रेस प्रभारी और पूर्व केंद्रीय मंत्री भक्त चरण दास ने किसान सत्याग्रह यात्रा के दौरान 14 जिलों का दौरा किया. वैशाली से अपनी यात्रा की शुरूआत कर भक्त चरण दास ने मुजफ्फरपुर, पूर्वी चम्पारण से लेकर गोपालगंज, सीवान, सारण, भोजपुर, बक्सर, कैमूर, रोहतास, औरंगाबाद और नालंदा जिले का दौरा कर किसान और कार्यकर्ताओं से संवाद स्थापित किया. इस दौरान उन्होंने किसानों की समस्या सुनी. वहीं कार्यकर्ता को पार्टी को और मजबूत करने की हिदायत दी. यात्रा का पहला चरण खत्म कर भक्त चरण दास ने शनिवार को पटना में एक प्रेसवार्ता का आयोजन किया.

इस प्रेस वार्ता में बिहार प्रभारी भक्त चरण दास के अलावा, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, विधायक दल के नेता अजीत शर्मा, प्रेमचंद्र मिश्रा और कोकब कादरी शामिल हुए. प्रेसवार्ता में बिहार प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि देश के किसानों की बात उठाने को लेकर कांग्रेस कार्य कर रही है. राहुल गांधी और सोनिया गांधी इस विषय को लेकर काफी गंभीर हैं. आज देश के किसानों की हक मारी हो रही है. इसलिए देश के किसान लड़ाई लड़ रहे हैं. गांधी जी ने भी अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई की शुरुआत बिहार से की थी. इसलिए हमने बिहार में किसानों के लिए किसान सत्याग्रह यात्रा की. और बिहार के किसानों ने भी किसान सत्याग्रह यात्रा में सम्मिलित होकर अपना सहयोग दिया. किसान सत्याग्रह यात्रा का पहला चरण सफल रहा. इस यात्रा में लोगों की भागीदारी हुई है.

बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने देश में चल रहे किसानों के आंदोलन पर कहा कि भारत के किसानों की बात अगर भारत सरकार मान लेती है तो इससे वो छोटे नहीं हो जाएंगे. भारत सरकार किसानों की मांग को अपने अहम से ना जोड़े. राम जी 14 साल के लिए वनवास गए थे. वनवास के दौरान आम लोगों के हित के लिए काम किया. राम के नाम को बेचने वाले ऐसा काम क्यों नहीं करते हैं. किसानों के साथ जो व्यवहार किया जा रहा है, वो रावण जैसे चरित्र वाले व्यक्ति कर रहे हैं. किसानों के आंदोलन में विदेशी साजिश पर बयान देते हुए भक्त चरण दास ने कहा कि सिर्फ ट्विट करने से इसको साजिश का नाम नहीं दिया जा सकता. बिहार में भी कांग्रेस किसानों का समर्थन करेगी. किसानों की समस्या पर बिहार बंद का आह्वान किया जाएगा.

वहीं बिहार के किसानों की बात करते हुए भक्त चरण दास ने कहा कि बिहार में किसानों की उपज की सही कीमत नहीं मिलती है. बिहार में गन्ना किसानों के साथ अन्याय हो रहा है. करीब 400 रूपये प्रति क्विंटल किसानों को गन्ना का मूल्य मिल रहा है. हर साल खाद, उर्वरक और बीज के दाम बढ़ रहे हैं. मगर बिहार के गन्ना किसानों को  4 सालों से कीमत नहीं बढ़ाई गई है. जिससे बिहार के किसानों की कमर टूट रही है. किसान जो उत्पादन भी कर रहे हैं उसका उचित मूल्य नहीं मिल रहा है. बिहार सरकार ने किसानों से जो फसल खरीद का लक्ष्य रखा था, उसे पूरा नहीं कर पाती है. यही नहीं बिहार में एक किसान के परिवार का आय 1 दिन में करीब 125 रुपए के है. बिहार सरकार के पास किसानों के लिए समय नहीं है. बिहार की सरकार किसानों के विकाश के प्रति सोच नहीं रखती है. बिहार में फूड प्रोसेसिंग का बड़ा केंद्र बन सकता है. आज बिहार में 5 फूड प्रोसेसिंग केंद्र भी नहीं है.

बिहार कांग्रेस प्रभारी ने बेरोजगारी के मुद्दे पर भी नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार में बेरोजगारी का आलम बड़े स्तर पर बढ़ रहा है. बिहार में हर दूसरा आदमी बेरोजगार है. बिहार में मजदूरों की हालत काफी बूरी है. नीतीश सरकार के हर घर नल जल योजना पर सवाल उठाते हुए भक्त चरण दास ने कहा कि बिहार में घर नल जल योजना में करोड़ों रूपये खर्च किए गए हैं. लेकिन कई जगहों पर अभी भी पानी की व्यवस्था नहीं की गई है. गांधी जी ने जहां से सत्याग्रह की शुरुआत की उस स्थान की हालत आज ठीक नहीं है. क्षेत्र में विकास की जरूरत है. सड़कों का हाल भी सही नहीं है.

वहीं भक्त चरण दास ने पार्टी की आगे की रणनीति की चर्चा करते हुए बताया कि कांग्रेस के नेताओं की टीम बनाई जाएगी. ये टीम किसान सत्याग्रह यात्रा जहां जहां हो रही है, वहां पर जाएगी. वहां जा कर यात्रा कार्यक्रम का फॉलोअप करेगी. साथ ही क्षेत्र में पार्टी की विकास के लिए काम करेगी. किसान सत्याग्रह यात्रा के दूसरे चरण की यात्रा 14 जिलों में शुरू की जाएगी. 15 मार्च तक किसान सत्याग्रह यात्रा बिहार में खत्म कर दी जाएगी.