May 18, 2024

Today24Live

Voice Of All

GAYA: दोहरे हत्याकांड की CID जांच की पूर्व CM जीतन मांझी ने की मांग, मृतक के परिजनों से की मुलाकात

MANOJ MISHRA, DUMARIYA, GAYA: डुमरिया के मैगरा थाना क्षेत्र के हरनी गांव में बीते दिनों हुई दोहरे हत्याकांड में मंगलवार को समाजसेवी महेंद्र यादव व पड़ोसी रामदयाल रजक  व घायल दुलारचंद साव के परिजनों से पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने मुलाकात की। उन्होंने शोकाकुल परिवारों को सांत्वना दी । वहीं इस हत्याकांड की पूरी घटना की जानकारी परिजनों व ग्रामीण से ली। उन्होंने कहा कि यह बहुत दुःखद घटना है। इस मौके पर दोनों पीड़ित परिवारों के विधवा को सरकारी नौकरी के लिए अनुशंसा की है।

वहीं उन्होंने कहा कि अपराधियों ने चार लोगों की और हत्या की धमकी दी है। जिससे पीड़ित परिवार व हरनी, तरवाडीह गांव के लोग दशहत में जी रहे हैं। वे लोग भय से घरों में नहीं सो रहे हैं। हमने एसएसपी से इस संबंध में बात की है, यहां लोगों के जीव को खतरा है, यहां सुरक्षा की सख्त जरुरत है। इस गांव में लोगों की सुरक्षा के लिए यहां अस्थायी पुलिस पिकेट स्थापित  करने की मांग की है।

जीतन राम मांझी ने आगे कहा कि सरकार से शीघ्र मुख्यमंत्री राहत योजना से सहायता देने की मांग भी की गई है। उन्होंने कहा कि समाचार पत्रों में यह खबर आ रही है कि इन दोनों की हत्या नक्सलियों ने की है। कई जगहों पर पर्चे भी गिराकर नक्सलियों ने इस दोहरे हत्याकांड की जिम्मेदारी भी ली है। पर हरनी में मृतक के पीड़ित परिवार से जानकारी के बाद यह भाकपा माओवादियों का मामला नहीं है। यह भूमि विवाद का मामला है। ऐसे में इस हत्याकांड को सरकार द्वारा सीआईडी से जांच कराने की मांग करते हैं । यहां नक्सल की समस्या संदिग्ध है।

जीतन राम मांझी ने आगे बताया कि नारायणपुर के भुईंयाडीह में जमीन खरीदने को लेकर कुछ दिन पहले एक व्यक्ति ने जमीन को लेकर विवाद किया था।  नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। वहीं तरवाडीह व अन्य गांवों में एक जमीनदार की सैकड़ों एकड़ भूमि को तरवाडीह व अन्य गांव के लोगों ने खरीद की थी, जिसे कुछ लोगों ने खेती करने पर रोक लगा दिया था । जिसमें कुछ लोगों को देख लेने की धमकी दी थी, इसमें भी हत्या का कारण हो सकता है । इसमें कोई निर्दोष नहीं फंसे व दोषी पर कार्रवाई हो ऐसें में सीआईडी जांच जरुरी है। वहीं नारायणपुर में कुछ लोगों ने इस हत्या कांड में निर्दोष को नहीं फंसाने की मांग किया है ।

इस मौके पर हम पार्टी के जिलाध्यक्ष टुटू खां, जैदी खां, भागवत यादव, संतन सिंह, सफकत खां सहित कई लोग मौजूद थे। इस दौरान पारिवारिक लाभ योजना बीस-बीस हजार रुपये का चेक पीड़ित परिवारों को दिया गया। बीडीओ बबलू कुमार व अरविन्द कुमार चौधरी ने चेक सौंपा। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री ने दलित परिवार को कबीर अन्त्येष्टि योजना की राशि नहीं मिलने पर चिंता जताई ।