May 29, 2024

Today24Live

Voice Of All

क्वारंटाइन सेंटर में एक व्यक्ति पर 5300 रुपये हो रहे हैं खर्च, सीएम नीतीश कुमार ने दी जानकारी

बैठक में सीएम नीतीश की मुख्य बातें

  • स्कूल-कॉलेज छोड़ अन्य जगहों पर बनेंगे क्वारंटाइन सेंटर
  • पॉजिटिव मरीज को आइसोलेशन सेंटर में रखेंगे
  • ज्यादा तबीयत खराब होने पर अस्पतालों में कराया जाएगा भर्ती
  • राज्य के तीन अस्पतालों में किया जाएगा गंभीर मरीजों को भर्ती
  • क्वारंटाइन सेंटर में एक व्यक्ति पर हो रहे हैं 5300 रुपये खर्च
  • क्वारंटाइन सेंटर में खाने-पीने की पूरी व्यवस्था
  • गरीबों के खातों में दी गई सहायता राशि
  • 200 से ज्यादा बनाए गए आपदा राहत केंद्र
  • कोरोना उन्मूलन कोष में 180 करोड़
  • सोशल डिस्टेंसिंग पर ध्यान बेहद जरूरी
  • घर से निकलने से पहले मास्क लगाना अनिवार्य
  • सभी जगहों पर साफ-सफाई पर देना होगा ध्यान
  • मास्क पहनने के लिए लोगों को करना होगा प्रेरित
  • बिहार में अबतक 4096 कोरोना पॉजिटिव
  • बिहार में अबतक 25 लोगों की कोरोना से हुई मौत
  • 3 मई के बाद बिहार में बढ़ी कोरोना मरीजों की संख्या
  • बाहर से आने वाले 3000 लोग कोरोना पॉजिटिव
  • कोरोना से डरने की जरूरत नहीं
  • प्रतिदिन 10 हजार लोगों की जांच करने का लक्ष्य
  • ग्रामीण डॉक्टरों से अपील, कोरोना के लक्षण दिखे तो जांच के लिए भेंजे
  • कोरोना से डरने की नहीं सचेत रहने की जरूरत

 

न्यूज डेस्क, पटना: बिहार में कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या में प्रवासियों के लिए की गई व्यवस्था पर सीएम नीतीश कुमार लगातार बैठक कर रहे हैं। किसी दिन अधिकारियों के साथ तो किसी दिन जनप्रतिनिधियों के साथ। इसी सिलसिले को बढ़ाते हुए सीएम नीतीश कुमार ने आज नगर पंचायत के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कॉंफ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के साथ कई अधिकारी मौजूद रहें। साथ ही अलग-अलग पंचायतों के मुखिया से लेकर निकायों के जनप्रतिनिधि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोनो को लेकर कई जानकारियां साझा की साथ ही जन प्रतिनिधियों को कई सुझाव भी दिए।

अब स्कूल कॉलेज में नहीं बनेंगे क्वारंटाइन सेंटर

सीएम नीतीश कुमार ने जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि अब स्कूल-कॉलेज छोड़ अन्य जगहों पर क्वारंटाइन सेंटर बनाए जाएंगे। ताकि शिक्षा के कार्य में किसी को कोई परेशानी न हो। कोरोना के पॉजिटिव मरीज को आइसोलेशन सेंटर में रखा जाएगा। ऐसे मरीजों की ज्यादा तबीयत खराब होने पर अस्पतालों में भर्ती कराया जाएगा। राज्य के तीन अस्पतालों में गंभीर मरीजों की भर्ती की जाएगी।

क्वारंटाइन सेंटर में मिल रही है पूरी सुविधा

सीएम नीतीश कुमार ने बताया कि क्वारंटाइन सेंटर में एक व्यक्ति पर 5300 रुपये खर्च हो रहे हैं। क्वारंटाइन सेंटर में खाने-पीने की पूरी व्यवस्था की गई है। इसके अलावा गरीबों के खातों में सहायता राशि दी गई है। 200 से ज्यादा आपदा राहत केंद्र बनाए गए हैं, जिससे लोगों को फायदा पहुंच रहा है। कोरोना उन्मूलन कोष में 180 करोड़ रूपये दिए गए हैं। सरकार की तरफ से हर प्रकार से मदद की जा रही है।

सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क बेहद जरूरी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आगे बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग पर ध्यान देना हमे हर हाल में देना होगा। घर से निकलने से पहले मास्क लगाना हर व्यक्ति को जरूरी समझना होगा। इसके अलावा सभी जगहों पर साफ-सफाई पर पूरा ध्यान देने की जरूरत है। मास्क पहनने के लिए लोगों को प्रेरित करना होगा।

 

बिहार में अबतक कोरोना से 25 मौत

सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बिहार में अबकर 4096 कोरोना पॉजिटिव मरीज हैं। अबतक बिहार में कोरोना से 25 लोगों की मौत हुई है। 3 मई के बाद बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या काफी बढ़ी है। सीएम ने आगे बताया कि बाहर से आने वाले करीब 3 हजार लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। लोगों को सीएम नीतीश ने सलाह देते हुए कहा कि कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है। कोरोना को लेकर जागरूक रहने की जरुरत है।

प्रतिदिन कोरोना का 10 हजार सैंपल जांच करने का लक्ष्य

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बताया कि कोरोना का प्रतिदिन 10 हजार लोगों की जांच करने का लक्ष्य रखा गया है।ग्रामीण डॉक्टरों से अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के लक्षण दिखे तो जांच के लिए जरूर मरीज को भेजिए। कुछ लोग समाज में विवाद पैदा करना चाहते हैं लेकिन कोरोना से डरने की नहीं सचेत रहने की जरूरत है।

7 जून से दोबारा सीएम जेडीयू नेताओं से करेंगे संवाद

इसके बाद अब सीएम नीतीश कुमार जदयू नेताओं के साथ जिलावार वीडियो कॉंफ्रेंसिंग करेंगे। 7 जून से दोबारा जदयू नेताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिग की शुरुआत होगी। जिसमें सभी जिलाध्यक्ष, प्रखंड अध्यक्ष, बूथ अध्यक्ष, पंचायत अध्यक्ष, बूथ सचिव, बूथ कमिटी सहित अन्य जदयू नेताओं के साथ मुख्यमंत्री बात करेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 7 जून को पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी और मधुबनी के पार्टी नेताओं से बात करेंगे।