May 18, 2024

Today24Live

Voice Of All

यशवंत सिन्हा ने भरी हुंकार, राज्य सरकार पर वार, कहा- सृजन देश का सबसे बड़ा घोटाला, जांच कमेटी का हो गठन

BHAGALPUR: 15 साल बनाम 15 साल पर बहस कर जनता को भ्रमित करने का प्रयास किया जा रहा है. पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने ये बातें शुक्रवार 4 सितंबर को सुलतानगंज कसमाबाद गांव में एक सभा को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार के विकास के लिए राज्य सरकार 15 साल बनाम 15 साल का बहस कर जनता के साथ बेईमानी कर रही है.

सुल्तानगंज के कसमाबाद में जो सुशांत सिंह राजपूत के नाम फिल्म सिटी के निर्माण की नीव रखी गयी है, उसमें बिहार की विभूतियों के घर की मिट्टी को लगाया जाएगा. इसके लिए पूरे बिहार के विभूतियों के घर से मिट्टी लाया जायेगा. पूर्व वित्त मंत्री (Yashwant Sinha) ने आगे कहा कि  सुशांत सिंह राजपूत की हत्या बिहार के अरमानों की हत्या है. इस हत्या का अपमान का बदला सही तरीके से लिया जाएगा.

पूर्व केंद्रीय मंत्री (Yashwant Sinha) ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि भागलपुर का सृजन घोटाला देश का सबसे बड़ा धोटोला है. उन्होंने कहा कि सृजन घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है लेकिन बड़े-बड़े नेता और अधिकारी को इसमें बताया जा रहा है. इसकी जांच की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि एक कमेटी का गठन किया जाना चाहिए. जिससे कि जांच में गति आ सके.

भारतीय सबलोग पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद डॉ अरुण कुमार सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार की बदहाली के लिए राज्य व केंद्र सरकार जिम्मेदार है. बिहार में शिक्षा की बदहाली स्वास्थ्य व्यवस्था चौपट है. इस तरह के कई मुद्दे खड़े हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में बेहतर शिक्षा व्यवस्था का सृजन करना नए विकल्पों के साथ युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराना हमारी पार्टी की प्राथमिकता होगी.

सुशांत सिंह राजपूत फिल्म सिटी का निर्माण समय पर पूरा किया जाएगा. इसके लिए प्रयास जारी है. सुलतानगंज की जनता के सहयोग से इस मुहिम को मुकाम तक पहुंचाया जाएगा. इस दौरान कई नेताओं ने भी सभा को संबोधित किया. भारतीय सब लोग पार्टी के सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी रवि सुमन और अरुण मंडल ने मंच संचालन कर लोगों से आशीर्वाद मांगा. उन्होंने कहा कि एक बेहतर विकल्प नई ऊर्जा के साथ जनता की सेवा करना मेरा मकसद है. इस मौके पर पाटीँ के सभी नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे.