May 18, 2024

Today24Live

Voice Of All

पटना के सुल्तानगंज के शारजाह कॉलोनी में हथियार लहराया! की फायरिंग, पड़ोसी पर किया जानलेवा हमला।

न्यूज़ डेस्क, पटना : पटना के सुल्तानगंज में वरिष्ठ समाजसेवी पर गोली चली। जी हैं गोलियों कि ठायें-ठायें की आवाज़ से राजधानी पटना का शारजाह कॉलोनी थर्रा गया। ये घटना बस पानी गिराने के मामूली विवाद पर हुई। पानी छत से गिराने के लिए रोकना एक सामाजिक कार्यकर्ता के लिए भारी पर गया। पड़ोसी ने रोब ऐसा दिखाया की एक के बाद एक 4 गोलियां दाग दी। गनीमत ये रही की इस घटना में किसी को गोली नहीं लगी। इस घटना का वीडियो सामने आया है जिसमें आरोपियों को गोली चलाते देखा जा सकता है।

अब सवाल ये उठता है कि गोली चलाने वाला शख्स कौन है ?
क्या किसी की जान पानी गिराने से रोकने पर ली जा सकती है ?
उसके हाथ में जो हथियार है, क्या उसका लाइसेंस है ?
या फिर हथियार अवैध रूप से रखा गया है ?
अगर लाइसेंसी हथियार है तो क्या किसी को डराने के लिए प्रशासन ने लाइसेंस दिया है ?
अगर अवैध हथियार है तो इसकी जांच होनी चाहिए ?

दरअसल पटना के सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के शारज़ाह कॉलोनी में वरिष्ठ समाजिक कार्यकर्ता वसी अख्तर और उनकी पत्नी पर मामूली विवाद के बाद मोहल्ले के कुछ लोगों ने गोली चला दी। हालंकि दोनों की जान बाल बाल बच गयी। इसको लेकर इलाके में घंटों तनाव की स्थिति रही और वसी अख्तर के समथकों में इस घटना को लेकर काफी गुस्सा है। घटना के बाद सुल्तानगंज थाना ने मौके पर पहुँच कर स्थिति को नियंत्रण में लिया। घटना के सिलसिले में वासी अख्तर की पत्नी नग़मा अख्तर ने फेसबुक पर एक वीडियो जारी कर घटना के बारे में विस्तार से बताते हुए अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है।

इस सिलसिले में सुल्तानगंज थाना में वसी अख्तर की ओर से लिखित शिकायत दर्ज कराई गयी है जिसमें मोहल्ले के कई प्रतिष्ठित लोगों का हस्ताक्षर है, जिसमें पूर्व वार्ड पार्षद मो नियाज़, समाजिक कार्यकर्ता फ़िरोज़ अहमद, सोहैल आदि प्रमुख हैं। अब सवाल ये उठता है कि पुलिस मामले में क्या कार्रवाई करती है या फिर कोरोना काल का बहाना कर मामले को ठन्डे बस्ते में डाल दोषियों का मनोबल और बढ़ा देती है।