April 20, 2024

Today24Live

Voice Of All

रोडरेज में इंडिगो स्टेशन मैनेजर रूपेश की हुई थी हत्या, पटना पुलिस ने किया खुलासा, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

PATNA: पटना पुलिस ने पटना एय़रपोर्ट के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्याकांड का बुधवार को खुलासा किया. पुलिस ने बताया कि हत्या रोडरेज में की गई. एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए पूरी जानकारी दी. एसएसपी ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से अहम सुराग मिले जिसके बाद से अपराधी को एसआईटी की टीम ने पकड़ा. गिरफ्तार युवक का नाम रितुराज है. रितुराज ने अपने कबूलनामे में बताया कि रोडरेज के मामले में ही उसने रूपेश की गोली मारकर हत्या कर दी. बता दें कि 12 जनवरी, 2021 को रूपेश की घर लौटने पर हत्या कर दी गई थी.  पटना के गांधी मैदान स्थित कार्यालय में पीसी कर पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा में बताया कि रोडरेज में इंडिगों मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या की गई थी. हत्या में कुल चार अपराधी शामिल हैं. फिलहाल पुलिस ने एक अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि तीन अपराधी अब भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है. अपराधी दो बाइक पर सवार होकर आए थे और रूपेश को छह गोली मारी थी.

एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि आऱोपी रितुराज के बाइक के साथ नवंबर 2020 में रूपेश की कार से टक्कर हो गई थी. जिसके बाद बदला लेने की नियत से रितुराज ने रूपेश की गाड़ी का पीछा किया. कई दिनों तक रूपेश के घर की रेकी की. इसके बाद 3 दोस्तों के साथ मिलकर इस हत्या को अंजाम दिया. रितुराज ने हत्या की बात कबूली है. पुलिस फिलहाल रितुराज के बयान के आधार पर हत्या का खुलासा कर दिया है. लेकिन कई और बिंदुओं की भी जांच कर रही है.

एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने आगे बताया कि हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन हुआ था. रूपेश के बॉडी से 6 गोली निकाली गई थी. साथ ही हत्या की जांच के लिए एसटीएफ को भी लगाया गया था. 50 से ज्यादा लोगों से मामले में पूछताछ की गई. सीडीआर भी निकाला गया. टेक्निकल टीम लगातार काम कर रही थी. कई सीसीटीवी देखा गया. जिससे पता चला कि अपराधी गोली मारकर आर ब्लॉक से दीघा रोड पर गए थे. हत्या के दिन घटनास्थल पर तीन बजे से अपराधी थे. पुनाईचक में अपराधी दोपहर 2 बजकर 58 मिनट में निकले थे. 4 घंटे तक लगातार वो घटना स्थल के आसपास रहें. एसएसपी ने आगे बताया कि रितुराज को रामकृष्ण नगर से गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने कई सबूत बरामद कर लिए हैं.

आरोपी रितुराज के मुताबिक नवंबर महीने में पटना में उसकी शाम को लोजपा कार्यालय के पास रूपेश की गाड़ी से टक्कर हुई थी. इसके बाद दोनों केबीच बहस औऱ मारपीट की नौबत आ गई. हत्या के बाद रितुराज को लगा कि ये हाई प्रोफाइल मामला है तब वो डर से वो रांची भाग जाता है.

एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि रितुराज का अभी कोई आपराधिक इतिहास नहीं है. लेकिन वो बाइक चोरी की घटना को अंजाम दिया करता था. रूपेश को रितुराज ने ही गोली मारी थी. पुलिस ने मीडियाकर्मियों के साथ रितुराज को पेश किया जहां उसने अपने जुर्म को कबूल कर लिया. वहीं पुलिस बाकि तीन लोगों की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है.