April 23, 2024

Today24Live

Voice Of All

Covid Crisis India

different images of corona crisis in India

India Corona Update: कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के लिए भारत की मदद करेगा यूरोपीय संघ और जर्मनी

New Delhi: भारत में (India Corona Update) कोरोना की दूसरी लहर लगातार कहर बरपा रहा है. भारत की स्वास्थ्य व्यवस्था फैल होती नजर आ रही है. यही वजह है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की भरी किल्लत है. जिसकी वजह से कई मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. भारत में इस कोरोना की आपदा (India Corona Update) को देखते हुए अब यूरोपियन संघ (European Union) सामने आय़ा है. यूरोपीय संघ ने कहा है कि कोरोना की इस घरी में भारत की हर संभव मदद के लिए तैयार है. यूरोपीय संघ (European Union) के आपदा प्रबंधन विभाग के यूरोपीय आयुक्त जेनेज लेनारकिक (Janez Lenarcic, the European Commissioner for Crisis Management) ने भारत की मदद के लिए ट्वीट कर जानकारी दी है. वहीं यूरोपीय संघ (European Union) के अलावा इजराइल और जर्मनी ने भी भारत को कोरोना (India Corona Update) की दूसरी लहर से निपटने के लिए मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. जिस तरह से भारत में प्रतिदिन करीब 3.5 लाख कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. इससे हेल्थ सिस्टम पूरी तरह से चरमरा गया है. अस्पतालों में कोविड बेड, दवा और ऑक्सीजन की भारी कमी देखी जा रही है. जिससे मरीजों की मौत भी हो रही है.

Delhi High Court on Oxygen crisis: दिल्ली हाईकोर्ट की सख्त टिप्पणी- “ऑक्सीजन सप्लाई किसी ने रोका तो लटका देंगे फांसी पर”

बताया जा रहा है कि दुनिया के कई देशों के साथ यूरोप भी मार्च 2021 से ही कोरोना की दूसरी लहर (Covid Crisis India) को देखते हुए भारत पर नजर बनाए हुए हैं. जिस तरह से लगातार कई दिनों से भारत में रोजाना कोरोना के करीब 3.5 लाख केस आ रहे हैं. इस डेटा को देखते हुए दूसरे देश अब भारत के लिए मदद के हाथ आगे बढ़ाने शुरू कर दिए हैं. इसमें यूरोपीय संघ (European Union) काफी महत्वपूर्ण है. भारत को मदद के लिए यूरोपीय आयुक्त जेनेज लेनारकिक (Janez Lenarcic, the European Commissioner for Crisis Management) ने ट्वीट किया है. अपने ट्वीट में उन्होंने कहा है कि भारत (India Corona Update) की सहायता के लिए यूरोपीय संघ ने ईयू सिविल प्रोटेक्शन मैकेनिज्म को एक्टिव कर दिया है.

दरअसल ईयू सिविल प्रोटेक्शन मैकेनिज्म के एक्टिव होने से यूरोपीय संघ (European Union) बहुत ही तेजी से मदद के लिए सारे संसाधन जुटाना शुरू कर देगी. और जल्द ही भारत तक ये मदद पहुंच सकेगी. जिसमें कोविड 19 के इलाज के लिए मेडिकल ट्रिटमेंट से जुड़ी सभी वस्तुए शामिल हैं. जैसे ऑक्सीजन, दवा जैसे जरूरी चीजे जल्द ही भारत तक पहुंचाई जाएंगी.