April 20, 2024

Today24Live

Voice Of All

कांग्रेस के ‘चाणक्य’ अहमद पटेल का निधन, कोरोना पॉजिटिव होने के बाद चल रहा था इलाज

DELHI: कांग्रेस के ‘चाणक्य’ और गुजरात से राज्यसभा सांसद अहमद पटेल (Ahmed Patel) का बुधवार को निधन हो गया। उन्होंने 71 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली। वो 1 अक्टूबर को कोरोना संक्रमित हुए थे। उन्हें 15 अक्टूबर को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पीएम मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी सहित सभी नेताओं ने अहमद पटेल (Ahmed Patel) के निधन पर दुख जताया है। अहमद पटेल (Ahmed Patel) को कांग्रेस के ‘चाणक्य’ के रूप में जाना जाता था।

अहमद पटेल (Ahmed Patel) के बेटे फैजल ने ट्वीट कर उनके निधऩ की जानकारी देते हुए बताया कि ‘बड़े दुख के साथ बताना चाहता हूं कि मेरे पिता अहमद पटेल का बुधवार देर रात 3.30 बजे निधन हो गया। एक महीने पहले उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी और उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था, जिसके बाद उनकी मौत हो गई। अल्लाह उन्हें जन्नत अता फरमाए।’

सोनिया गांधी ने जताया दुख

अहमद पटेल (Ahmed Patel) के निधन पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कहा कि ‘उनका पूरा जीवन कांग्रेस पार्टी के प्रति समर्पित था। उनकी विश्वसनीयता, काम के प्रति समर्पण, दूसरों की मदद करने जैसे गुण उन्हें दूसरों से अलग बनाते थे। मैंने एक परिवर्तनशील कॉमरेड, एक वफादार सहयोगी और एक मित्र खो दिया है। उनकी क्षतिपूर्ति नहीं हो सकती। उनके परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमद पटेल (Ahmed Patel) के निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया कर कहा है कि ‘अहमद पटेल जी के निधन से दुखी हूं। उन्होंने कई साल सार्वजनिक जीवन में समाज के लिए काम किया। उन्हें अपने तेज दिमाग के लिए जाना जाता था। कांग्रेस को मजबूत करने के लिए वे हमेशा याद किए जाएंगे। मैंने उनके बेटे फैजल से बात की है। उनकी आत्मा को शांति मिले।’

राहुल गांधी ने भी ट्विट कर अहमद पटेल के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने कहा कि ‘आज दुखद दिन है। अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के एक स्तंभ थे। उन्होंने हमेशा पार्टी के लिए काम किया और कांग्रेस को ही जिया और कठिन वक्त में हमेशा पार्टी के साथ खड़े रहे। हमेशा उनकी कमी खलेगी।’

अहमद पटेल का राजनीतिक सफर

अहमद पटेल (Ahmed Patel) महज 28 साल में सांसद बन गए थे। उनका जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात के भरूच जिले के पिरामण गांव में हुआ था। 1977 से 1989 तक वे 3 बार लोकसभा सांसद रहें और 1993 से 2020 तक 4 बार राज्यसभा सांसद रहें। अहमद पटेल ने पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा सीट से लड़ा था जिसमें उनकी जीत 62 हजार 879 वोटों से हुई थी। उस वक्त वो सिर्फ 28 साल के थे। अहमद पटेल 1985 जनवरी से सितंबर तक तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के संसदीय सचिव रहे। 2001 से सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार बने। जनवरी 1986 में वे गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष भी रहें। 1977 से 1982 तक यूथ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष थे। सितंबर 1983 से दिसंबर 1984 तक वे कांग्रेस के जॉइंट सेक्रेटरी भी बने।

 

 

 

 

 

 

 

राजीव गांधी के साथ अहमद पटेल। फोटो क्रेडिट: https://ahmedpatel.co.in/

तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन के साथ अहमद पटेल। फोटो क्रेडिट: https://ahmedpatel.co.in/