July 23, 2024

Today24Live

Voice Of All

SITAMARHI: चीन परस्त नेपाल का दुस्साहस, सड़क निर्माण कार्य को रोका, बॉर्डर पर तनाव, अधिकारियों को दी गई सूचना

SITAMARHI: चीन परस्त नेपाल का दुस्साहस बढ़ता ही जा रहा है। नेपाल ने फिर ज़िले के सीमावर्ती क्षेत्र में अपनी दादागिरी देखनी शुरू कर दी है। ताजा मामला भारतीय सीमा के भिट्ठामोड़ बॉर्डर पर भारतीय क्षेत्र में हो रहे सड़क निर्माण को नेपाल की आपत्ति के बाद रोक दिया गया है। मंगलवार को नेपाल सशस्त्र पुलिस बल द्वारा हो रहे निर्माण कार्य को रोक दिया गया। नेपाल पुलिस भारतीय क्षेत्र की 20 मीटर जमीन पर अपना दावा ठोक रही है।

 

वरीय अधिकारियों को भारतीय जवानों ने दी सूचना

जानकारी के मुताबिक सड़क का निर्माण भिट्ठामोड़ चौक से लेकर नो मैंस लैंड तक हो रहा है। सड़क निर्माण रोकने के बाद से वहां तनाव बढ़ने लगा है। निर्माण एजेंसी के कर्मियों के साथ काम कर रहे मजदूर और स्थानीय लोग भी आक्रोशित हो गए हैं। स्थिति बिगड़ते देख एसएसबी के जवान बॉर्डर पर मुस्तैद हैं। एसएसबी के जवानों ने स्थिति को संभालते हुए लोगों को आश्वासन देकर शांत किया। वहीं वरीय अधिकारी को मामले की सूचना दी गई है। हालांकि मौके पर एसएसबी जवानों और नेपाल पुलिस के बीच हुई बातचीत से भी कोई समाधान नहीं निकल सका है।

नेपाल जवान बात-चीत से नहीं माने

वहीं, स्थानीय अखबार में छपी खबर के मुताबिक इस घटना की जानकारी जलेश्वर नगर पालिका के मेयर को भी दी गई है। इस मामले पर जलेश्वर नगरपालिका के मेयर शंकर शाही सीमा पर पहुंचे और नेपाल पुलिस के अधिकारियों से बातचीत की। बातचीत के बावजूद सड़क निर्माण का कार्य शुरू नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि वह अपने स्तर पर उच्च अधिकारियों से बात करेंगे।

क्या है मामला ?

गौरतलब हो कि भिट्ठामोड़ चौक से लेकर नो मैंस लैंड तक की सड़क की स्थिति बदतर हो चुकी है। बरसात में जलजमाव लगा रहता है। स्थानीय लोगों के साथ देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस सड़क का निर्माण भारत वर्षों से करता आया है लेकिन आज तक नेपाल ने इससे पूर्व आपत्ति नहीं दर्ज कराई थी।