July 15, 2024

Today24Live

Voice Of All

Patna : शिया वक़्फ़ बोर्ड देगा आइसोलेशन सेंटर के लिए जगह, बोर्ड के अध्यक्ष इरशाद अली आज़ाद का बयान: सरकार के कल्याणकारी कार्यों में सहयोग देना हमारा कर्तव्य।

न्यूज़ डेस्क, पटना: पूरे देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण ने लोगों की दौड़ती भागती जिंदगी पर प्रश्न चिन्ह लगा कर रख दिया है। बिहार राज्य में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या रोज बढ़ती जा रही है। जिस कारण इससे संक्रमित होने वाले लोगों को जांच और समुचित इलाज़ की जरुरत है। लेकिन खासकर बिहार के बाहर से आने वालों की संख्या इतनी अधिक है कि सरकार के लिए इन सारे लोगों को isolate करने के लिए जगह उपलब्ध कराने में दिक्कत हो रही है। ऐसी स्तिथि में बिहार राज्य शिया वक़्फ़ बोर्ड ने बिहार सरकार को अपने पत्र के द्वारा सूचित किया है कि वक़्फ़ के कुछ चिन्हित स्थानों एवं भवनों का उपयोग आइसोलेशन सेंटर के लिए किया जा सकता है। इसमें फज़ल इमाम रिलीजियस एन्ड चैरिटेबल ट्रस्ट 168/पटना, फ्रेजर रोड, पटना, मुल्ला शादमान वक़्फ़ एस्टेट 153/पटना, गोलकपुर, पटना, कर्नल कल्बे अली खां वक़्फ़ एस्टेट 5/ पटना, पत्थर की मस्जिद, पटना, अमीरी बेगम वक़्फ़ एस्टेट 5 (ए)/पटना, नौजर कटरा, पटनासिटी, अल्ताफ नवाब वजीहुन्निसा बेगम वक़्फ़ एस्टेट 7-ए, ब्लॉक-बी/पटना, पटनासिटी, अल्ताफ नवाब वजीहुन्निसा बेगम वक़्फ़ एस्टेट 6/पटना, मदरसा सुलेमानिया, पटनासिटी, पटना जो कुल 50 हज़ार sqft. में है, ये बातें बिहार राज्य शिया वक़्फ बोर्ड के अध्यक्ष इरशाद अली आज़ाद ने बताई।

इरशाद अली आज़ाद ने बताया कि अभी हाल ही में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आने वाले समय में कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि राज्य के सरकारी भवनों, निजी व्यवसायिक भवनों और होटलों को भी आइसोलेशन सेंटर बनाया जाये। सरकार की इन बातों को ध्यान में रखते हुए हमारा कर्तव्य है कि सरकार के इस अहम काम में सहयोग देते हुए वक़्फ़ के खाली पड़े भवनों को आइसोलेशन सेंटर बनाया जाये ताकि मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए जगह की कोई कमी न होने पाए और सभी मरीजों को रहने और इलाज़ कराने की उचित सुविधा प्राप्त हो सके।