April 23, 2024

Today24Live

Voice Of All

पटना में शिक्षक अभ्यर्थी पर लाठीचार्ज करने वाले ADM पर होगी कार्रवाई, डिप्टी सीएम तेजस्वी ने दिया जांच का आदेश

PATNA: पटना का डाकबंगला चौराहा रणक्षेत्र बना रहा. जहां एक तरफ जाप कार्यकर्ता राजभवन मार्च के लिए निकले थे तो वहीं दूसरी तरफ शिक्षक अभ्यर्थी सांतवें चरण की नियुक्ति की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे. सैंकड़ों की संख्या में CTET और BTETअभ्यर्थी डाकबंगला चौराहे पर जुट गए और हंगामा (PATNA LATHICHARGE) करने लगे. पुलिस ने उन्हें हटाने की कोशिश लेकिन अभ्यर्थी मानने को तैयार नहीं थे. .जिसके बाद मौके पर ADM लॉ एंड ऑर्डर को पहुंचना पड़ा. ADM ने मोर्चा संभाला और छात्रों को हटाने की कोशिश की लेकिन अभ्यर्थी नहीं माने तब तो बस फिर क्या था. एडीएम साहब आग बबूला हो गए और खुद हाथों में डंडा थाम कर अभ्यर्थियों की पिटाई करने लगे.

अभ्यर्थी तब भी डंटे रहे और नारेबाजी करते रहे. इसके बाद पुलिस को वाटर कैनन का इस्तेमाल किया और लाठियां (PATNA LATHICHARGE)  भी बरसाईं. कुछ घंटों तक राजधानी का सबसे व्यस्तम चौराहा डाकबंगला रणक्षेत्र बना रहा. दरअसल ये सब सांतवें चरण की बहाली की मांग कर रहे हैं. इनका कहना है कि सरकार जल्द से जल्द सातंवें चरण की बहाली की प्रकिया शुरू करे.

शिक्षक अभ्यर्थियों के ऊपर लाठीचार्ज (PATNA LATHICHARGE)  की घटना के बाद डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव सामने आए. पटना के एडीएम द्वारा अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज की घटना तेजस्वी ने कहा है कि जो तस्वीरें सामने आई हैं वह बेहद दुखद है. इस मामले में उन्होंने पटना के डीएम से बात की है. डीएम ने जांच कमेटी बनाई है और रिपोर्ट आएगी तो कार्रवाई भी होगी. इतना ही नहीं तेजस्वी यादव ने शिक्षक अभ्यर्थियों के प्रदर्शन पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी. तेजस्वी ने कहा कि जब शिक्षक अभ्यर्थी हर दिन मुझसे मुलाकात कर रहे हैं तो उन्हें सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करने की जरूरत नहीं थी. लिहाजा थोड़े दिन धैर्य से काम लें. नियुक्ति की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी.

शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने नियोजित शिक्षक बहाली के अभ्यार्थियों से अपील की है कि नए सरकार पर भरोसा करें और कुछ समय दें. सभी अभ्यर्थियों की नियोजन प्रक्रिया पूरी होगी. उधर बीजेपी विधान पार्षद नवल किशोर यादव ने शिक्षक अभ्यर्थी पर लाठीचार्ज (PATNA LATHICHARGE)  की कड़ी निंदा की है. साथ ही उन्होंने कहा कि जिस तरह से अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज किया गया है. ये कहीं से भी जायज नहीं है. अधिकारी जिस तरह से अपनी मर्जी का काम कर रहे हैं, यह भी ठीक नहीं है. एडीएम ने जिस तरीके से तिरंगे का अपमान किया है उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.