May 29, 2024

Today24Live

Voice Of All

लापरवाही: मुंगेर के स्कूल में 25 शिक्षक और छात्र कोरोना पॉजिटिव होने के बाद 24 घंटे के अंदर हुए निगेटिव

मुंगेर: बिहार में कोरोना पॉजिटिव का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। हम बात कर रहे हैं मुंगेर (Mungair) जिले असरगंज प्रखंड के ममई गांव स्थित लाल बहादुर शास्त्री किसान उच्च विधापीठ विधालय की। यहां कोरोना के मामले ने सबको हैरान कर दिया है। पहले तो एक साथ 3 शिक्षकों सहित 25 छात्रों का कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आया। लेकिन महज 24 घंटे के अंदर ये रिपोर्ट निगेटिव आ गई। दरअसल असरगंज पीएचसी प्रभारी ने इस पूरे मामले पर अब बयान देते हुए कहा कि दोबारा सभी बच्चों और शिक्षकों की जांच की गई। जिसमें सभी 25 के 25 शिक्षक और छात्रों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। पीएचसी प्रभारी के बयान से पूरे बिहार और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। जब मामले में तूल पकड़ा मीडिया ने जब संबंधित अधिकारियों से जवाब मांगा तो तो प्रभारी ने इसे मानवीय भूल का हवाला देते हुए अपना पलड़ा झाड़ने की कोशिश की। इसके बाद जब सिविल सर्जन से पूरे मामले पर सवाल किया तो उनका जवाब भी सुन लीजिए। उन्होंने कहा है कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 24 घंटे के अंदर निगेटिव रिपोर्ट की जांच के आदेश दिए गए हैं। जो भी रिपोर्ट आएगा उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

क्या है पूरा मामला ?

ये पूरा मामला 7 जनवरी का है। दरअसल (Mungair) असरगंज प्रखंड के ममई गांव स्थित लाल बहादुर शास्त्री किसान उच्च विद्यालय में सभी का कोरोना टेस्ट किया गया। टेस्ट के बाद तीन शिक्षक सहित 25 छात्रो को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। पॉजिटिव आने के बाद शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। इसके बाद जिला प्रशासन ने आनन फानन में मेडिकल टीम को स्कूल भेजा। पूरे स्कूल को बंद कर दिया गया और सेनेटाइज किया गया। साथ ही कोरोना पॉजिटिव के परिवार वालों का भी टेस्ट कराने की तैयारी कर ली गई। लेकिन जब दोबारा सभी पॉजिटिव शिक्षक और छात्रों की जांच की गई तो उन्हें निगेटिव बता दिया गया। हैरान करने वाली बात ये है कि सभी 25 कोरोना पॉजिटिव दोबारा टेस्ट में निगेटिव पाए गए। जिससे स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है।

क्या कहते हैं अफसर ?

असरगंज (Mungair)  पीएचसी प्रभारी ललन कुमार ने मामले में मीडियाकर्मियों को बताया कि रेपिड एंटीजेन किट से स्कूल के 75 छात्रों का जांच किया गया था। जिसमें 25 पॉजिटिव आये थे।  पर जब दोबारा जांच की गई तो सभी के सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई। उन्होंने मामले में सफाई देते हुए कहा कि स्वास्थ कर्मियों द्वारा मानवीय भूल हुई जिस कारण 25 का रिपोर्ट पॉजिटिव आया  था। इस मामले में स्कूल के प्रभारी प्रिंसिपल का कहना है कि स्कूल में स्वास्थ विभाग द्वारा 75 लोगों की शिविर लगाकर कोरोना जांच की गई थी। जिसमें 25 पॉजिटिव आए थे।