September 23, 2023

Today 24 Live

Voice Of All

GAYA: नक्सलियों ने की ईंट भट्ठा संचालक की हत्या, पर्चा छोड़ और हत्या करने की दी धमकी, पुलिस के खिलाफ ग्रामीणों का फूटा गुस्सा

MANOJ MISHRA, DUMARIYA, GAYA: डुमरिया प्रखंड के मैगरा थाना क्षेत्र के नारायणपुर पंचायत अंतर्गत हरनी गांव में नक्सलियों ने ईंट भट्ठा संचालक महेन्द्र यादव सहित तीन लोगों को गोलियों से भुन दिया। इस घटना में युवा महेंद्र यादव व रामदयाल रजक की मौत इमामगंज ले जाने के क्रम में हो गई। जबकि दुलारचंद साव को गंभीर अवस्था में पटना रेफर किया गया है ।

रात के अंधेरे में नक्सलियों ने किया हमला

बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने दस से पंद्रह राउंड गोलियां चलाई, जिसमें महेन्द्र यादव को सात से आठ गोली मारी गई है। जानकारी के अनुसार घटना बीती रात करीब 10:30 बजे की है। जब महेन्द्र यादव घर के बाहर दो लोगों से बैठकर बातें कर रहे थे। तभी घर के पीछे खेत से चार-पांच की संख्या में आये हथियार बंद नक्सलियों ने पहले महेंद्र यादव पर अंधाधुंध फायरिंग कर निशाना बनाया। इसके बाद दोनों पर भी गोलियां चलाई। इसके बाद नारे लगाते व ग्रामीणों को धमकाते पश्चिम की ओर भाग निकले। तीनों को रात्रि में ही इमामगंज सामुदायिक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया । जहाँ चिकित्सक ने महेंद्र यादव व रामदयाल रजक को मृत घोषित कर दिया। जबकि दुलारचंद साव को प्राथमिक उपचार के बाद पटना रेफर कर दिया गया ।

भाकपा-माओवादी ने घटना की ली जिम्मेदारी

इधर घटना की सूचना मिलते ही मैगरा थाने की पुलिस घटनास्थल पहुँची, जहां से गोली के खोखे व नक्सली द्वारा छोड़ा गया पर्चा बरामद किया गया। भाकपा माओवादियों ने पर्चा छोड़ इस हत्या की जिम्मेदारी ली है। पर्चा में लिखा गया है कि ‘भू- माफिया व पुलिस के दलाल महेंद्र यादव का सफाया किया गया। महेंद्र यादव एक झांकी है, अभी और पुलिस दलाल व भू माफिया बाकी है। गांव गांव में किसान कमिटी के निर्माण करो।‘

ग्रामीणों का फूटा गुस्सा, 5 को पुलिस ने लिया हिरासत में

घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने इमामगंज में डुमरिया मोड़ पर शव को रखकर जाम कर दिया । जहां डीएसपी अजित कुमार व अनुमंडल पदाधिकारी उपेंद्र पंडित के आश्वासन के बाद जाम हटाया गया। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए गया भेज दिया है। मौके पर पहुंचे डीएसपी इमामगंज ने कहा कि महेन्द्र यादव अपने दो पड़ोसी के साथ घर के बाहर बैठे थे। तब यह हमला किया गया । आपसी रंजिश में अपराधियों ने हत्या की है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है । घटना के बाद पुलिस पांच लोगों को इस संबंध में हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है । पुलिस कई एंगल से हत्या की घटना को देख रही है । जानकारी है कि पिछले पंचायत चुनाव में महेन्द्र यादव की पत्नी सरोज देवी ने नारायणपुर पंचायत से मुखिया का चुनाव लड़ी थी। वहीं कुछ भूमि संबंधी विवाद भी सामने आया था। वहीं इस घटना से क्षेत्र में दहशत का माहौल है। घटना के बाद परिजन व बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है ।