April 20, 2024

Today24Live

Voice Of All

GAYA: बेटी के न्याय के लिए दर-दर भटक रहे हैं माता-पिता, पुलिस पर कार्रवाई न करने का लगाया आरोप, अब मानवाधिकार संस्था से लगाई गुहार

ASHOK SHARMA, GAYA: गया शहर के फतेहगंज बम पुलिस मोड़ थाना कोतवाली निवासी मुंशी यादव ने नेशनल ह्यूमन राइट्स एंड पब्लिक वेलफेयर ट्रस्ट मानवाधिकार संस्था से न्याय की गुहार लगाते हुए एक आवेदन पत्र दिया है. जिसमें उन्होंने उल्लेख कर यह बताया है कि उनकी सुपुत्री सुधा कुमारी, उम्र 20 वर्ष, जिसका विवाह डेल्हा थाना अंतर्गत खरखुरा के रहने वाले विशाल यादव से 2018 मंम हुई थी. आवेदक का कहना है कि लड़के वालों ने दहेज के कारण मेरी सुपुत्री की 18 मार्च 2020 को निर्मम हत्या कर फरार हो गये. इस बाबत डेल्हा थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई जा चुकी है. जिसका कांड संख्या 76/20 है. परंतु कई महीने बीत जाने के उपरांत भी अब तक किसी भी आरोपियों की गिरफ्तारी करने में स्थानीय पुलिस सक्रिय नहीं दिखी.

वहीं मुंशी यादव ने अपने आवेदन पत्र में यह भी आरोप लगाया है कि डेल्हा थाना की पुलिस द्वितीय पक्ष से मिली भगत कर आरोपियों को बचाने में लगी हुई है. इसलिए डेल्हा थाना पुलिस की कार्यशैली पूर्णरूप से सन्देहास्पद है. यहां तक कि मुंशी यादव ने अपने आवेदन पत्र में लिखा है कि दूसरे पक्षों के द्वारा उन्हें केस सुलह करने की भी निरंतर धमकी भी दी जा रही है. सुलह नहीं करने पर बुरा अंजाम भुगत लेने को कहा गया है. पीड़ित ने इस गम्भीर मामले को लेकर मीडिया एवं कई वरीय पुलिस अधिकारियों को भी आवेदन दिया लेकिन अब तक कोई ठोस कार्रवाई होते नहीं दिख रहा है.

वहीं नेशनल ह्युमन राइट्स एंड पब्लिक वेलफेयर ट्रस्ट मानवाधिकार संस्था ने मुंशी यादव के आवेदन पत्र की उचित जांच एवं सुनिश्चित कार्रवाई हेतू श्री गुप्तेश्वर पांडेय, पुलिस महानिदेशक (पटना) बिहार एवं श्री राजीव मिश्रा, वरीय पुलिस अधीक्षक महोदय, गया जिला को ज्ञापन भेजा है।