April 14, 2024

Today24Live

Voice Of All

राकेश टिकैत ने फिर भरी हुंकार, गाजीपुर बॉर्डर पर फिर जुटने लगे आंदोलनकारी किसान

DELHI: दिल्ली बॉर्डर से सटे गाजियाबाद प्रशासन ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को धरना स्थल को खाली करने का अल्टीमेटम दिया है. लेकिन किसानों पर इसका असर अभी तक नजर नहीं आ रहा है. लगातार किसानों का प्रदर्शन जारी है। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर सैकड़ों की तादाद में किसान शुक्रवार को भी डटे हुए हैं। इसके साथ ही यहां लगातार किसानों का आना जारी है।

बीकेयू के आह्वान पर आंदोलन में शामिल होने के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, बागपत, मुरादाबाद, मेरठ, बिजनौर, और बुलंदशहर जिलों से बड़ी संख्या में किसान शुक्रवार तड़के यूपी गेट पहुंच है साथ ही साथ किसानों के आने का सिलसिला लगातार जारी है, जबकि बीते रात यहां सुरक्षा बलों की संख्या को कम कर दी गई थी. लेकिन किसानों की संख्या बढ़ने के साथ ही यहां पर एकबार फिर पुलिस बल की तैनाती बढ़ा दी गई है. इतना ही नहीं ड्रोन से भी स्थिति पर नजर रखी जा रही है.

वहीं किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि किसान गिरफ्तारी नहीं देंगे, पहले सरकार से बातचीत होगी. यहां प्रदर्शनकारियों की संख्या रातभर में ही काफी बढ़ गई थी। बता दें कि भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) नेता राकेश टिकैत की अगुवाई में बीकेयू के सदस्य 28 नवंबर से ही प्रदर्शन कर रहे हैं। 

दिल्ली बॉर्डरों पर भी भारी फोर्स तैनात

वहीं, शुक्रवार को दिल्ली के सिंघु  और टीकरी बॉर्डरों पर भी भारी पुलिस बल तैनात है। सभी सीमाओं पर दिल्ली पुलिस के साथ अर्धसैनिक बलों को भी तैनाती की गई है। कई मार्गो को बंद कर दिया गया है.

किसानों के साथ है दिल्ली सरकार

शुक्रवार को दिल्ली बॉर्डर पर हलचल और बढ़ गई जब दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों से मिलने पहुंचे. इस दौरान उन्होंने व्यवस्थाओं का जायजा लिया। पत्रकारों से बातचीत करते हुए सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार किसानों के साथ है और गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसानों को कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी. गाजीपुर बॉर्डर पर पानी की कोई दिक्कत नहीं होने दी जाएगी. आगे उन्होंने कहा कि कुछ पूंजीपतियों के इशारे पर सरदार और किसानों की पगड़ी उछाली जा रही है।