May 29, 2024

Today24Live

Voice Of All

Courtesy- today24live

GAYA: प्रधानमंत्री मोदी की ‘मन की बात’ से मिला संदेश, ‘वोकल फॉर लोकल’ से भारत बनेगा आत्मनिर्भर, योग और आयुर्वेद से हारेगा कोरोना: मंत्री डा. प्रेम कुमार।

पुरषोत्तम और अशोक शर्मा, गया: माननीय मंत्री कृषि, पशुपालन-सह-मत्स्य संसाधन विभाग डा॰ प्रेम कुमार ने गया के स्वराजपुरी रोड स्थित, मोहनलाल जीरादेवी धर्मषाला में पूर्वाह्न 11 बजे से उपस्थित होकर माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के कार्यक्रम मन की बात में उनके द्वारा दिये गये संदेश को सुना। इसके बाद माननीय मंत्री डा॰ प्रेम कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री देश की आम जनता की मन की बात को अपने कार्यक्रम में सम्मिलित करते हुये देश वासियों को संदेश दे रहे हैं। आज के कार्यक्रम में देश के विभिन्न क्षेत्रों में आम लोगों द्वारा सेवा परमो धर्मो के भाव से कोरोना संकट में पीडि़त लोगों की मदद करने वाले का उन्होंने आभार व्यक्त किया और उनके जज्बे को सलाम किया। जिसमें तमिलनाडु के मदुराई शहर के सैलून चलाने वाले सी॰ मोहन द्वारा अपनी 5 लाख की बचत से गरीब, असहाय को भोजन कराना, त्रिपुरा के अगरतला गौतम दास एवं पंजाब के पठानकोट के दिव्यांग भाई राजू द्वारा मास्क बनवाकर वितरित कराने जैसे उदाहरणों का उल्लेख कर अन्य लोगों को भी इस भावना से कार्य करने के लिये प्रोत्साहित किया। उन्होने कहा कि संकट की इस घड़ी में कई इनोवेशन देखने को मिल रहे हैं जिसमें नासिक के राजेन्द्र यादव द्वारा ट्रैक्टर से सेनेटाईजेशन मशीन जोड़कर गांव को सैनेटाईज किया जाना, दो गज की दूरी बनाने के लिये दुकानदारों द्वारा बड़ी पाईप लगा कर समान देना, शिक्षकों द्वारा आॅललाईन क्लाॅस लेना, विडियो क्लास लेना जैसे उदाहरण प्रमुख हैं। माननीय प्रधानमंत्री ने कहा कि इच्छाषक्ति और इनोवेशन से कोरोना संकट से लड़ने में आसानी होगी।

कृषि मंत्री डा॰ प्रेम कुमार ने आगे बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश श्रमिकों की पीड़ा को महसूस कर रहा है, भारत के पूर्वी भाग के श्रमिक जिन्होंनेे देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है उनके विकास से पूर्वोत्तर का विकास किया जायेगा। इसके लिये स्क्लि मैपिंग, स्टार्टअप और माईग्रेशन कमीशन पर कार्य किया जा रहा है। अंधेरे से रोशनी की ओर बढ़ना मानव का स्वभाव होता है। 20 लाख करोड़ के पैकेज से भारत आत्म निर्भर बनेगा, आत्म निर्भर भारत का मिशन बनाया गया है, अब भारतीय लोकल प्रोडक्ट खरीद रहे हैं और वोकल फाॅर लोकल का प्रमोशन कर रहें हैं।

वही माननीय मंत्री डा॰ प्रेम कुमार ने कहा कि आज की मन की बात में माननीय प्रधानमंत्री ने भारत की योग एवं आयुर्वेद की शक्ति का उल्लेख किया और कहा कि दुनिया के सभी देश इसके बारे में चर्चा कर रहें हैं। उन्होंनेे श्वसन तंत्र को मजबूत करने के लिये प्राणायाम कपाल भांति, अनुलोम विलोम, भ्रस्तिका आदि की महत्वपूर्ण भूमिका है और कहा कि सभी देशवाशी माई लाईफ, माई योगा प्रतियोगिता में भाग लेने के लिये अपना तीन मिनट का योग का विडियो बनाकर अपलोड करायें। माननीय प्रधानमंत्री ने बताया कि किस प्रकार भारत के 1 करोड़ से अधिक गरीब ग्रामीण नागरिक आयुष्मान भारत कार्यक्रम से जुड़कर लाभान्वित हो रहें हैं। माननीय प्रधानमंत्री ने कोरोना के अलावा देश के विभिन्न क्षेत्रों के नागरिकों द्वारा अलग-अलग चुनौतियों का सामना करने के हौंसले की सराहना किया और कहा कि देश हर हालात का डट कर सामना करेगा। चाहे फिर वह सुपर साईक्लोन अम्फान हो या टिड्डियो का हमला। माननीय प्रधानमंत्री ने 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर इस वर्ष की थीम जैव विविधता की चर्चा करते हुये प्रत्येक नागरिकों से अपील किया कि वे कम से कम एक वृक्ष अवश्य लगायें और जल को बचाने का प्रयास करें क्योंकि जल है तो जीवन है।

माननीय मंत्री डा॰ प्रेम कुमार के साथ कार्यक्रम में माननीय प्रधानमंत्री की बातों को सुनने के लिये मोहनलाल जीरादेवी धर्मषाला के अध्यक्ष श्री जीतेन्द्र बरनवाल, सचिव डा॰ विनोद बरनवाल, उपाध्यक्ष, श्री निरंजन प्रसाद एवं बूथ 120 के प्रभारी श्री सुधीर मिश्रा, श्री जितेन्द्र कुमार, श्री अमर यादव, श्री राजकुमार गुप्ता एवं अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।