May 29, 2024

Today24Live

Voice Of All

एक फेज में हो बिहार चुनाव, चुनाव आयोग के साथ सर्वदलीय बैठक में जेडीयू ने रखी मांग, डिजिटल रैली का आरजेडी के साथ वामदलों ने किया विरोध

NEWS DESK, PATNA: पटना में आगामी बिहार चुनाव को लेकर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के साथ चुनाव आयोग ने सर्वदलीय बैठक की. बैठक में राजनीतिक दलों ने कोरोना संक्रमण काल में चुनाव प्रचार और चुनाव कराने को लेकर कई सुझाव दिए. इसके अलावा कई राजनीतिक दलों ने वोटर आईडी और मतदान केंद्र का भी मामला उठाया.

जेडीयू ने 1 फेज में चुनाव कराने की रखी मांग

जनता दल यूनाइटेड ने चुनाव आयोग से मांग करते हुए बिहार में एक फेज में चुनाव कराने की मांग की. बैठक में जेडीयू की ओर से उपस्थित सांसद ललन सिंह ने कहा कि बिहार में 1 फेज में चुनाव हो और जरूरत अगर पड़े तो केंद्रीय कर्मचारियों को भी चुनाव कार्यों में लगाया जाए. उन्होंने आयोग से मांग करते हुए कहा कि दो तरह से चुनाव प्रचार हो. एक उम्मीदवार वोट मांगने खुद जाएं और दूसरा रैली को लेकर जो डिजिटल प्लेटफॉर्म है, उसपर आयोग सोच सकता है. आखिरी फैसला चुनाव आयोग को ही करना है.

आरजेडी ने डिजिटल रैली का किया विरोध

बैठक में आरजेडी ने डिजिटल प्लेटफॉर्म से रैली का जमकर विरोध किया. आरजेडी ने कहा कि जनता के बीच जाने की इजाजत सोशल डिस्टेंस के साथ चुनाव आयोग नियम बनाए. आरजेडी की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने चुनाव आयोग से कहा कि किसी भी हालत में हम डिजिटल रैली का विरोध करते रहेंगे. जगदानंद सिंह ने ये भी कहा कि आयोग संवैधानिक संस्था होते हुए भी अपनी विश्वसनीयता खोता जा रहा है. साथ ही जेडीयू के एक फेज में चुनाव कराए जाने की मांग पर कहा कि ये फैसला चुनाव आयोग को करना है.

वामदलों ने भी डिजिटल प्लेटफॉर्म का किया विरोध

बैठक में उपस्थित सभी वामदलों ने भी डिजिटल रैली का जमकर विरोध किया. वामदलों ने चुनाव आयोग से कहा कि किसी भी हालत में डिजिटल रैली को इजाजत चुनाव आयोग को नहीं देना चाहिए. जनप्रतिनिधियों को जनता के बीच में जाने का मौका देना चाहिए.

चुनाव आयोग ने सुझावों पर गौर करने का दिया भरोसा

चुनाव आयोग ने सभी पार्टियों के सुझाव को गंभीरता से चुना. बिहार चुनाव को लेकर पार्टियों की अलग-अलग सुझाव और मांगों को ध्यान से सुना. इसके बाद आयोग के अधिकारियों ने राजनीति दलों को भरोसा दिलाया कि चुनाव आयोग बिहार चुनाव के लिए उनके सुझावों पर गौर करेगा. और चुनाव को बेहतर ढंग से कराए जाने को लेकर उचित निर्णय लेगा