April 23, 2024

Today24Live

Voice Of All

Lock down : सख्त खाकी वर्दी के पीछे छुपा है एक फरिश्ता ! ये साबित कर दिया मुजफ्फरपुर के एक थानेदार ने।

    —-फिरोज इलियासी

    सख्त खाकी वर्दी के पीछे छुपा है एक फरिश्ता ! ये साबित कर दिया मुजफ्फरपुर के एक थानेदार ने।
    यही है असली इंडिया। जी हां यही है बापू का हिंदुस्तान। यही है हमारा हिन्दुस्तान, भारत, इंडिया।

    बिहार पुलिस को लेकर हमेशा सवाल उठता रहता है। लेकिन आज हम एक ऐसे पुलिस वाले की कहानी आपको बताने जा रहे हैं जिसके बारे में पढ़कर आप की जुबान से निकल पड़ेगा ‘बिहार पुलिस सदैव आपके साथ’। बिहार पुलिस के इस कथन को सही कर दिखाया है मुजफ्फरपुर के एक थाना प्रभारी ने। मुजफ्फरपुर के मुशहरी के थाना प्रभारी धर्मेन्द्र ने एक ऐसा काम कर दिया जिसके बारे में शायद ही कोई सोच सकता है। जिन्होंने अपने फर्ज की जिम्मेदारी को निभाते हुए जीवन और मौत के बीच झूल रहे एक युवक को अपना खून देकर उसकी जान बचाई। थाना प्रभारी ने युवक का न धर्म देखा न जाति बस उस युवक में अपना एक भाई देखा।

    चलिए अब हम आपको पूरी दास्तां सुनाते हैं। दरअसल गंभीर रूप से बीमार एक युवक की जान खतरे में थी। जहाँ उसकी जान बचाने के लिए तुरंत A पॉजिटिव खून चढ़ाने की जरूरत थी। जिसकी जानकारी मुसहरी थाना प्रभारी धमेंद्र को भी व्हाट्सएप पर मिली। इत्तेफाक ये था कि उनका BLOOD GROUP भी A पॉजिटिव ही था। बस क्या था थानेदार साहब ने उस युवक की जान बचाने की ठानी। और निकल पड़े SKMCH अस्पताल की ओर। थानेदार धर्मेंद्र SKMCH अस्पताल पहुंचे और युवक के बारे में पता लगाया। इसके बाद अस्पताल के डॉक्टर से उन्होंने खून देने की इच्छा जाहिर की। फिर क्या था डॉक्टर ने भी बिना देर किए थानेदार धमेंद्र का खून देकर युवक की जान बचाई।

    थानेदार धमेंद्र की इस इंसानियत को देखकर अस्पताल के डॉक्टर, कर्मचारी और युवक के परिजन सभी हैरान थे। हैरान इसलिए की जिस पुलिस के बारे में हमेशा सख्ती और कड़क मिजाजी के बारे में सुनते आए हैं उस सोच को थाना प्रभारी धमेंद्र ने हमेशा के लिए गलत साबित कर दिया। उन्होंने बता दिया कि सख्त खाकी वर्दी के पीछे एक नेक इंसान भी बसता है।

    यही है असली इंडिया। जी हां यही है बापू का हिंदुस्तान। जी हां यही है हमारा हिन्दुस्तान, भारत, इंडिया। आज इस थाना प्रभारी को सभी सलाम कर रहे हैं।