April 20, 2024

Today24Live

Voice Of All

Patna: शिया वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन की मुसलमानों से अपील, ‘ईदुलफ़ित्र की नमाज़ अपने घर पर करें अदा, देश के कानून का पालन करना, हमारा धार्मिक और सामाजिक कर्तव्य’

न्यूज़ डेस्क, Patna: देश का कानून का पालन करना हमारा धार्मिक और सामाजिक कर्तव्य है। रमज़ान का पाक महीना ख़त्म होने जा रहा है।सभी मुसलमान बड़े ही धैर्य और ईमानदारी के साथ इस महीने में रोज़ा रख रहे हैं और ख़ुदा की इबादत कर रहे हैं। साथ ही ग़रीबों और जरूरतमंदों की सहायता भी कर रहे हैं। लेकिन कोराना वायरस जैसेसंक्रमन ने पूरे विश्व को जकड़ रखा है।ये कब तक चलेगा, इसका किसी को अंदाजा नहीं है। इस जानलेवा बीमारी से बचने के लिए सरकार की ओर से आदेश एवं निर्देश समय-समय पर निर्गत होते रहे हैं। इसी के तहत लॉकडाउन-4 का भी एलान कर दिया गया है जिसके अर्न्तगत बिहार सरकार की ओर से जहां अन्य सामाजिक मामलों पर पाबन्दी लगाई गई है पर वहीं सभी धार्मिक इबादतगाहों और मज़हबी सभाओं पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है जिसके लिए जरूरी निर्देश भी जारी कर दिया गया है। ताकि लोगों को इस महामारी से बचाया जा सके। ये बातें बिहार राज्य शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष इरशाद अली आजाद ने अपने वक्तव्य में कही।

उन्होंने आगे कहा कि केन्द्र सरकार की ओर से लॉकडाउन की अवधि 31 मई 2020 तक बढ़ा दी गई है, साथ ही इस दौरान सभी तरह के धार्मिक स्थलों को पूर्ण रूप से बन्द रखने और किसी भी तरह के धार्मिक सभा आयोजित नहीं करने का आदेश निर्गत किया है। हमारे नबी साहब का कहना है कि अपने देश के कानून का पालन करना जरूरी है साथ ही मुसलमानों के सभी बड़े आलिमों का फतवा भी है कि अपने देश के शासकों के बनाये हुए कानून का पालन करना हर मुसलमान का धार्मिक और सामाजिक कर्तव्य है। ऐसी स्तिथि में अपील है कि जुमअतुल विदा और ईदुलफित्र के शुभ अवसर पर अपने घरों में रह कर ही ओलमा ए कराम के बताये हुए तरीके के अनुसार धार्मिक कार्य करें और सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से अनुपालन करें।