April 20, 2024

Today24Live

Voice Of All

GAYA: जलापूर्ति को लेकर गया नगर निगम सभागार में समीक्षा बैठक, पेयजल समस्या पर नगर आयुक्त ने बुडको को लगाई फटकार।

पुरुषोत्ताम, गया: नगर निगम सभागार में डिप्टी मेयर अखौरी ओंकारनाथ उर्फ मोहन श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जलापूर्ति को लेकर समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक का संचालन नगर आयुक्त सावन कुमार ने किया। बैठक में बुडको के कार्यपालक अभियंता केपी देव उप नगर आयुक्त अजय कुमार,उप नगर आयुक्त साहब याहिया,जल पार्षद राकेश कुमार, कनीय अभियंता दिनकर प्रसाद, सहायक अभियंता विनोद कुमार, सहित जलापूर्ति से संबंधित कर्मचारी मौजूद थे।

बैठक में डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव ने बुडको को कहा कि आपका काम आधा अधूरा है, पानी की किल्लत जिन क्षेत्रों में हुआ है वहां कार्रवाई के लिए तैयार रहेंगे। उन्होंने धोबिया घाट पंपिंग केंद्र के संबंध में कहा कि नया बोरिंग में 40-40 एचपी के मोटर लगाएं और निगम के पाइप लाइन को जोड़े उन्होंने सख्त निर्देश दिया कि एक सप्ताह के अंदर सम्पूर्ण कार्य निष्पादन हो जाना चाहिए। डिप्टी मेयर ने कहा कि निगम से किसी प्रकार की सहायता की जरूरत है तो बताए लेकिन कार्य में कोई कोताही नहीं होनी चाहिए।समय पर कार्य पूरा नहीं हुआ तो कार्रवाई होगी। इसके अलावा केन्द्र के जर्जर पाइप को बदलें। उन्होंने कहां कि पेयजल से संबंधित 24 घंटा काम करें और पेयजल संकट को दूर किया जाए। बार बार बैठक में निर्देश देने के बाद भी कार्य धरातल पर नहीं दिख रहा ऐसा रहा तो करवाई के लिए भी तैयार रहेंगे।

बैठक में इसके अलावा मुस्तफाबाद गेवल बीघा एपी कॉलोनी अलीगंज सिंगरा स्थान, सहित अन्य वार्डों में पेयजल से जुड़े समस्या पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई और कई दिशा-निर्देश दी गई।

‘पेयजल संकट से प्रभावित क्षेत्रों को पहले समाधान करें’

बैठक में नगर आयुक्त सावन कुमार ने बुडको को फटकार लगाते हुए कहा कि जहां पेयजल का संकट नहीं है वहां काम लगाए हुए हैं। लेकिन पेयजल संकट से प्रभावित क्षेत्र को पहले ठीक करें। बागेश्वरी, धोबिया घाट, सहित अन्य मोहल्ले पेयजल समस्याओं से ग्रस्त हैं।

‘खराब पड़े चापाकलों की मरम्मती तेजी से हो’

बैठक में डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव ने चापाकल की मरम्मती को लेकर संबंधित अधिकारी दिनकर प्रसाद से जानकारी में बताया कि शहर में नगर निगम का 800 चापाकल की सूची है, बल्कि पीएचडी विभाग का लगभग 398 चापाकल है। इनमें जितने भी खराब पड़े चापाकल हैं उसकी मरम्मती का कार्य चल रहा है। डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव ने कहा कि वार्ड पार्षदों को इसकी सूची सौंपे और खराब पड़े चापाकल की मरम्मती मोनेटरिंग के साथ हो।

देखें सूची में क्या क्या है

निगम का चापाकल -800
खराब चापाकल- 215
इनमें लगभग 25 मरम्मत
मरम्मती का कार्य निरंतर जारी

प्याऊ + स्टैंड पोस्ट- 152
खराब- 42
मरम्मती 10 का हो गया
आगे का कार्य निरंतर जारी है

बैट- 74
खराब-15
मरम्मती 2
मरम्मती का कार्य जारी है