July 23, 2024

Today24Live

Voice Of All

नक्सली दोहरे हत्या कांड में पांच लोग गिरफ्तार, नक्सलियों ने फिर पर्चा फेंक फैलाई दहशत

MANOJ MISHRA, DUMARIYA, GAYA: मैगरा थाना के हरनी गांव में शुक्रवार की रात हुई  चर्चित दोहरे हत्याकांड में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है । मैगरा थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि ईंट भट्ठा संचालक महेन्द्र यादव व पड़ोसी रामदयाल रजक  के हत्या मामले में पांच लोगों की गिरफ्तारी हुई है। हरनी गांव के नंदकिशोर मिस्त्री, उमेश यादव, निरंजन शर्मा, रंजीत ठाकुर व राजा यादव को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी के बाद इन्हें कोरोना जांच के लिए डुमरिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया है। दोनों मृतक के परिजनों ने एफआईआर में दस लोगों को नामजद किया है । जिसमें चार की गिरफ्तार हो गई है।

पर्चा फेंक नक्सलियों ने फिर दी धमकी

नक्सलियों (Naxali Attack in Gaya) ने एकबार फिर जन अदालत लगाने व सुरक्षा बलों को निशाना बनाने की धमकी दी है। हरनी गांव के दोहरे हत्याकांड के दूसरे दिन भाकपा माओवादियों ने मैगरा थाना व भदवर थाना क्षेत्र के कई जगहों पर पर्चा गिराया है। जिससे क्षेत्र में लगातार नक्सलियों की उपस्थिति से लोगों में भय व्याप्त है।

रविवार को नारायणपुर के हेसरा पहाड़ी व सेवरा के कालीदह सोमवार को भदवर थाना के लोंदा, नंदई, बरवाडीह, दुधपनिया, बिशुनपुर, बिजुआ आदि गांव में पर्चा गिराया है । जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। इस पर्चे में माओवादियों ने लिखा है कि जमींदारों से छीनी गई जमीन को पाने के लिए संघर्ष तेज करें। जब्त जमीनों को खरीद-बिक्री करने वालों को जन अदालत में दंडित करने की बात कही है । इसके साथ ही क्रांतिकारी जनता की जमीन को विशेष आर्थिक क्षेत्र (सेज) के नाम पर देशी व विदेशी कंपनियों को सौंपने पर आम जनता को गोलबंद  होने की बात लिखी है। वहीं जल, जमीन को दलाल नौकरशाह, पूंजीपतियों को सौंपने वाली फासीवादी सता को उखाड़ फेंकने की अपील की है। वहीं एकाधिकार कि वास्ते तैनात पुलिस, अर्द्ध सैनिक बलों, कॉरपोरेट सिक्यूरिटी वाली तमाम कैंपों पर जबावी  हमला तेज करने का आह्वान किया है।

दो की नक्सलियों ने की थी हत्या

गौरतलब है कि हरनी गांव में शुक्रवार को देर रात प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी (Naxali Attack in Gaya) के दस्ते ने तीन लोगों को गोली से भून डाला था, जिसमें दो की मौत मौके पर हो गई थी। और एक गम्भीर रूप से घायल हो गया। मारे गए लोगों में ईंट भट्ठा संचालक महेंद्र यादव व रामदयाल रजक शामिल है। जबकि गम्भीर रूप से घायल दुलारचंद साव को गया के जयप्रकाश नारायण अस्पताल में इलाज के बाद पटना रेफर कर दिया गया था।