April 23, 2024

Today24Live

Voice Of All

मिलिए CORONA के असली FIGHTER से जिन्होंने कोरोना वायरस को चारो खाने किया चित

आज हम आपको CORONA के असली फाइटर से मिलाते हैं। ये वो फाइटर हैं जिन्होंने कोरोना से जंग लड़ी और उसपर फ़तेह हासिल कर ली। बिहार ही नहीं ये भारत के साथ पूरी दुनिया के लिए बड़ी और राहत की खबर है। पटना के NMCH में ट्रीटमेंट के बाद पांच कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव पायी गई। इसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इस तरह इन पांचों ने कोरोना को मात देते हो जिंदगी पर जीत हासिल कर ली।

6 अप्रैल को पटना में CORONA अस्‍पताल घोषित एनएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 5 कोरोना पॉजिटिव मरीज की दूसरी जांच रिपोर्ट भी निगेटिव आने के बाद उन पांचों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। अस्पताल प्रशासन ने सीवान निवासी चार युवकों को एंबुलेंस से उनके घर भिजवाया, जबकि पटना के खेमनीचक निवासी शरणम अस्पताल के एक कर्मी को परिजन अपने साथ ले गए। लेकिन अभी इन सभी को 14 दिनों तक अपने घर में ही क्वारेंटाइन रहना होगा।

अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर निर्मल कुमार सिन्हा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सिवान निवासी सभी युवक 29 मार्च से भर्ती थे जबकि निजी अस्पताल सहकर्मी 24 मार्च को भर्ती हुआ था। सभी की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

इससे पहले एक महिला मरीज ने कोरोना पर जीत हासिल की थी और फिर उसके बाद दो युवकों ने भी कोरोना को मात दिया था। इन कोरोना के fighters का कहना है कि कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद घबराना नहीं चाहिए। डॉ से मिलें और जल्द अस्पताल में भर्ती हो जाना चाहिए और पूरा इलाज कराना चाहिए। साथ ही हिम्मत के साथ कोरोना वायरस का मुकाबला कर उसे मात देना चाहिए ।